There was an error in this gadget

Wednesday, March 2, 2011

HAPPY MAHASHIVRATRI



मेरे प्रिय गुरु भाइयों,गुरु बहिनों  और साथियों ,
 आप सभी  को ढेर सारी शुभकामनाये  इस महापर्व की .
हम सभी यहाँ तंत्र कौमुदी  के तृतीय अंक की तैयारी में लगातार लगे हैं  की आप को एक ओर  श्रेष्ठ  अंक महाविशेषांक  के रूप में आपके सामने आये . आप सभी के लगतार बढ़ते हुए  स्नेह  को मन में रखते हुए आप सभी से  यह कहना चाहूँगा की , 
 जब ,आप इस पथ पर हमारे साथ  हैं  तो
क्यों न   थोडा सा प्रयास करे ओर कम से कम किसी भी एक नए व्यक्ति को इस ब्लॉग और इ पत्रिका के बारे में बताये ओर उनका सहयोग कर उन्हें  इस ब्लॉग पर  आने को प्रोत्साहित करे ,आखिर आप ही तो सदगुरुदेव जी के ज्ञान रूपी को आगे प्रसारित करने में हमारे   सहयोगी हैं .
मानता हूँ की थोडा  प्रयास तो करना पड़ेगा ही   पर सफलता तो मिलनी हैं ही .
और आप  इस और ध्यान देंगे ही ऐसा ही हमारा  विश्वास  हैं

ओर  आप सभी के स्नेह से हम सभी  भी  ह्रदय से आपके प्रति स्नेहित हैं .
सदगुरुदेव स्वरुप में भगवान् शिव के  महाशिवरात्रि  महा पर्व  की  ,आप सभी का जीवन  सभी क्षेत्रों में परिपूर्णता   प्राप्त करते हुए ,हम सभी इस पथ पर  तीव्रता से बढे ,सदगुरुदेव तो हाँथ फैलाये इंतज़ार कर ही रहे हैं हर पल हम सभी बच्चों की . 

*************************************************************************************

My dearest Guru brother ,sisters and friends,
Heartiest best wishes for you all on this occasion of Maha shivratri.
Here  we are continuously doing our best  so that  the coming third issue  will appear as Maha visheshank.  With the growing support from all of you , I want to say to you all that when you all are with us on the path divine , than why not spread info about this blog and e magazine to a new person and help them to join us, in  this way Sadgurudev ji divine  gyan will  reach  to every one. For this work we have to do a little effort, and  I am having faith on your effort .
In the form of bhagvaan shakar Sadgurudev blesses you all , may you all have  all round prosperity and proceed  fast on this path. sadgurudev ji always waiting  for their children like us.
****ARIF KHAN, ANURAG SINGH,RAGHUNATH NIKHIL****

No comments: