There was an error in this gadget

Monday, December 5, 2011

TANTRA KAUMUDI ‘S 9 Th Issue Releasing Soon ……….



प्रिय  मित्रो,  
                                               एक बार  पुनः  हमें  आप सभी  को यह  सुचना   देते  हुए   प्रसन्नता   हैं   कि   तंत्र   कौमुदी  (    फ्री   इ  पत्रिका    जो    हिंदी और  अंग्रेजी  दोनों  भाषाओ   में  विगत   एक वर्ष  से  लगातार    प्रकाशित   हैं )  के  नवम अंक    जो  कि  "  शक्ति  सायुज्ज्य   अघोर साधना   महाविशेषांक " के  रूप  में  प्रकाशित   होना   हैं , और  इस  हेतु  हमारा  दिन रात  का  श्रम  अपनी गति पर  हैं कि   इस  अंक  को  और  भाई  आपके  लिए  महत्वपूर्ण  और    उपयोगी  कैसे  बनाया  जाय , 
                                        पर  जब  तक    यह  अंक  आपके  हाथो  तक  पहुंचे  तब तक   हमेशा  कि तरह   इस  अंक  में प्रकाशित    होने  वाले   कुछ  लेख  के  बारे  में  कुछ   .... 
 निखिल  इष्ट  दर्शन  प्रयोग :  ऐसी   तो हमने  आपके  सामने पहले  भी   कुछ इस  सन्दर्भ  में  साधनाए प्रस्तुत   कि हैं  जो  इष्ट  दर्शन के लिए   सर्वाधिक  अनुकूल  हैं     पर  जब यह   कहा  जाए  कि शमशान  में  तो  हर क्रिया   कि  गति  अत्यधिक  तीव्र  होती हैं  तब   ऐसा   दुर्लभ  प्रयोग मिल पाना  ही  साधक  का  भाग्य   हैं    जो आपके लिए आपके  इष्ट के  दर्शन  कि इच्छा  पूर्ति  की  सफलता  के  द्वार   कहीं  तीव्रता  से  खोल  देगा ,,,
अघोरेश्वर  साबर  साधना:  भगवान्  शकर के  इस अद्भुत  स्वरुप  के  सौन्दर्य  और  सामर्थ्य  को कौन समझ सकता   हैं जिनके  श्री  चरणों में  सारा  संसार का  वैभव    रखा हैं पर  वह  अपनी   ही समाधि  सुख में   लीन हैं और ऐसे  स्वरुप  की    वह  परम  दुर्लभ साधना खासकर   साबर  मन्त्र  के माध्यम से   तब तो सफलता  में  कोई  शक  ही नहीं हैं.   जो  आपके  समस्त  मनोरथ  के  साथ उनके  दर्शन   तक करा  सकने में  समर्थ हैं  यह  साधना   सिर्फ  आपके  लिए ,,,, 
 अघोरी की महाकाली  साधना :  दस  महाविद्या  में सर्वोपरि  माँ  भगवती  महाकाली के  नाम से  कौन  परिचित  नहीं हैं  और  माँ  तो शमशान निवासिनी   हैं  और वहीँ माँ  का   विचरण स्थल  भी हैं तब  वहां कैसे  माँ  के  इस स्वरुप   की  यह  दुर्लभ साधना संपन्न  की जाती हैं वह भी    अघोर  पथ के  साधक  द्वारा  की  गयी  साधना   एक   विस्तृत  विवरण    जो  अपने आप में  ही ही  रोमांचित  करने  वाला  हैं... 
अघोर आकस्मिक  धन प्राप्ति  प्रयोग: अघोर पथ की साधनाए  तो हांथो  हाथ परिणाम  दे सकने में  समर्थ  हैं अगर  साधक   मन  बना  ले  और उसे अपने   सदगुरुदेव   पर   हो पूरा  विस्वास  तो  साधक के लिए  क्या  असंभव हैं  लक्ष्मी   प्राप्ति   साधना  के   इस  अद्वितीय  प्रयोग   को  जिसकी   तो कोई  सानी  ही नहीं हैं सिर्फ  आपके लिए ,, और  ले  आइये  इस प्रयोग  के  माध्यम से   लक्ष्मी  का आगमन अपने  घर  में...
 शिव लोक  साधना   तथा  रहस्य : साधक    ही नहीं योगियों  के लिए  भी स्वप्न  रहा हैं  की उन्हें इस  दिव्यतम  लोक  जिसे  शिव लोक  कहा  जाता  हैं कुछ पता  चले  और इस  परम पावन  लोक  जिसकी  महिमा    ही न्यारी हैं  कुछ  दुर्लभ जानकारी की क्या हैं और कैसा  हैं यह  भगवान्    शिव  का लोक ,,   कैसे उसके  बारे में और  भी जाना  जा  सकता हैं  एक  परम  दुर्लभ  साधना  जो  आपको  इस  लोक के  अनेको रहस्यों  से स्वयम  ही साधक   का परिचय करा  देती हैं.  
इसके साथ हमेशा  की  तरह “सदगुरुदेव प्रसंग “ में  सदगुरुदेव    से  जुड़े  कुछ प्रसंग  सामने  होंगे   तो   "सूत  रहस्यम " और " स्वर्ण   रहस्यम " में   हम  देखेंगे   की प्रकृति के   किस  रहस्य से इस बार  हमारा  आमना सामना   होगा , और  अन्य   लोकप्रिय  स्तम्भ जैसे  “ दरिद्रता नाशक लक्ष्मी प्रयोग”  और  “वरदायक  गणेश  प्रयोग”   , और ज्योतिष , आयुर्वेद  और टोटके आपके लिए   तो  हैं ही ,
                                क्या बस इतना ही ,, नहीं नहीं  इसके   अतिरिक्त   "कई "  दुर्लभ  साधनात्मक  लेख   भी  आपके  इतजार में हैं    आप भी अपनी प्रति क्रिया  से  हमें  कहाँ  अवगत  कराते हैं  तो  हम भी  इन सभी  कुछ  अत्यंत  ही  उच्च कोटि के लेख  के  बारे  में  उसी समय  बताएँगे   जब यह  पत्रिका   जब आपके  हाथो में  आयेगी   तब  ही आप जान  पाएंगे और आप स्वयं  कह  उठेंगे  की सच में  यह  दुर्लभ  लेखो  से  सुसज्जित  अंक  हैं ..
                                  आप सभी  की आशाओं   पर  यह  अंक  खरा उतरे  इसकेलिए  हम  पूरी  मेहनत  कर रहे हैं और  कोशिश कर  रहे हैं की यह  महाविशेषांक  आपकेलिये  और  भी उपयोगी   हो  और  निश्चय   ही  आने वाले  इसमें  साधनाए  आपके  जीवन को उपलब्धिया  से परिपूर्ण   कर  दे....
                                                     और मित्रो  हम अपनी    और  से पूरी कोशिश में लगे  हैं की किसी भी तरह  यह अंक  आपके  पास  10  dec 2011 की  रात  तक पहुँच  जाये .
  तो थोडा  सा   ओर  इंतज़ार ..

***************************************************************************************
 Dear  friends ,
                           we  are  very pleased  to inform  you all  that the    9 th  issue  of TANTRA  KAUMUDI’S  (  free  e magz continuously   published   in   Hindi and  English  language  from  last  one  year )  that is  “ SHAKTI  SAYUJJY   AGHOR SADHANA  MAHAVISHESHANK  “  is   going  to be  released  soon, and  we  are  continuously   doing  our  best   in this regard. In order  to make  this  issue more   useful   for  you .
  till  this  issue  reaches in your   hand  here   are  some of the  high lights of this   issue.
Nikhil   isht  darshan prayog:   we have also  published  some of the  sadhana in this  regard in   previous  issues ,   that  are more  useful   for  isht darshan ,  but  when  we  say that  the  result   will be  much  faster in shamshan  sadhana  than having this durlabh samshanik  prayog  is a great luck /boon  for a sadhak   , this  really opens a  new   door  of  success  for  you.
AGHORESHWAR  SABAR SADHANA : who can  able describe   the  beauty  and  power of this  swarup  of  Bhagvaan Shankar,  in his   feet all the  world  prosperity resides. And  if any one  get the  sadhana  specially  through sabar mantra     that is   his  real fortune  , this  sadhana   help  you  to have not only success  in life  and  also   darshan of  aghoreshar  and  this sadhana for  you only..
AGHORI  KI MAHaKALI  SADHANA : mother  Mahakali  is  considered   first  and  supreme  among the   ten  mahavidya and  who is  not  well known  about her,   shamshan is  the  walking place  and   home of the   mother  divine, and  here is   the experience of  one  sadhak  from aghor  panth  , in detail  and  also the  sadhana   too.   that is   really  thrilling ,
AGHOR   AAKISMIK  DHANPRAPTI  PRAYOG:  the  sadhana’s  from  aghor  panth   are  able   to provide  the result very fast and   if  sadhak  have  faith on  himself  and on his  Sadgurudev  than    nothing is  impossible  for  him.  This lakshmi  prapti sadhana  is  a boon    for  him,   complete  details  of this  sadhana   for  you only.
SHIV  LOK SADHANA   AND  RAHASY : not only  common sadhak  but even   the  yogies  too ,  its  a  dream,  to know about  shiv lok.. the  lok /place/home  of  bhagvaan shiv what  are   the various  secret  regarding that lok  and  much more  can be known through sadhana   and  that   durlabh  sadhana  is  first   time  for  you.
                                                  In addition  to that   in “Sadgurudev Prasang”  you will   know  some  more   details  of  our  Poojya sagurudev, and  in   “Soota  Rahasyam “ and  in  “Swaran  Rahaysm”    we  will  see  ,what  are    the hidden secret  of  nature revealed  to  us,  and     common  feature  like   “Vardayak  shri Ganesh prayog “,  “Daridrta  nashak  Lakshmi prayog”  and astrology, Ayurveda and totake will  be already there.
                   So that is  enough,
 no …no … 
                              some more  interesting   articles  containing   miraculous  sadhana  and  with  its  secret  will be    for  you only ., we are  not   giving their  details  now  its  a  secret  that  will  be  revealed  when  you  will have    this issue in your  hand.
  We are  doing  our best  so that  this issue  will  be  more  useful  and  come  up to   your  expectation.  And  became  more useful   for  you.
  We  are trying our  best   so  that   we  hope  very positively that    on night of  10  th  D ec 2011    this   issue  will  be  published.
  Till  than  wait  for.
  NPRU TEAM 
****NPRU****

No comments: