There was an error in this gadget

Saturday, March 3, 2012

अघोर आकस्मिक धन प्राप्ति प्रयोग (Aghor Aakashmik Dhan Prapti Prayog)


धर्म अर्थ काम और मोक्ष जीवन के चार मुख्य स्तंभ है. इन सभी पक्षों मे व्यक्ति पूर्णता प्राप्त करे यही उद्देश्य साधना जगत का भी है. इसी लिए व्यक्ति के गृहस्थ और आध्यात्मिक दोनों पक्ष के सबंध मे साधनाओ का अस्तित्व बराबर रहा है. हमारे ऋषि मुनि जहा एक और आध्याम मे पूर्णता प्राप्त थे वही भौतिक पक्ष मे भी वह पूर्ण रूप से सक्षम थे. साधना के सभी मार्गो मे इन मुख्य स्तंभों के अनुरूप साधनाऐ विद्यमान है ही. इस प्रकार अघोर साधनाओ मे भी गृहस्थ समस्याओ सबंधित निराकरण को प्राप्त करने के लिए कई साधना विद्यमान है. इन साधनाओ का प्रभाव अत्यधिक तीक्ष्ण होता है, तथा व्यक्ति को अल्प काल मे ही साधना का परिणाम तीव्र ही मिल जाता है. धन का निरंतर प्रवाह आज के युग मे ज़रुरी है. साधक के लिए यह एक नितांत सत्य है की सभी पक्षों मे पूर्णता प्राप्त करनी चाहिए. जब तक व्यक्ति भोग को नहीं जानेगा तब तक वह मोक्ष को भी केसे जान पाएगा. इस मुख्य चिंतन के साथ हर एक प्रकार की साधना का अपना ही एक अलग स्थान है. व्यक्ति चाहे कितना भी परिश्रम करे लेकिन भाग्य साथ ना दे तो सफलता मिलना सहज नहीं है. ऐसे समय पर व्यक्ति को साधनाओ का सहारा लेना चाहिए तथा अपने कार्यों की सिद्धि के लिए देवत्व का सहारा लेना चाहिए. पूर्णता प्राप्त करना हमारा हक़ है और साधनाओ के माध्यम से यह संभव है. किसी भी कार्य के लिए व्यक्ति को आज के युग मे पग पग पर धन की आवश्यकता होती है. हर व्यक्ति का सपना होता हे की वह श्रीसम्प्पन हो. लक्ष्मी से सबंधित कई प्रयोग अघोर मार्ग मे निहित है लेकिन जब बात तीव्र धन प्राप्ति की हो तो अघोर मार्ग की साधनाए लाजवाब है. अघोरियो के प्रयोग अत्यधिक त्वरित गति से कार्य करते है तथा इच्छापूर्ति करते है. आकस्मिक रूप से धन की प्राप्ति करने के लिए जो विधान है उसके माध्यम से व्यक्ति को किसी न किसी रूप मे धन की प्राप्ति होती है तथा त्वरित गति से होती है. इस महत्वपूर्ण और गुप्त विधान को साधक सम्प्पन करे तब चाहे कितने भी भाग्य रूठे हुए हो या फिर परिश्रम सार्थक नहीं हो रहे हो, व्यक्ति को निश्चित रूप से धन की प्राप्ति होती ही है.
साधक अष्टमी या अमावस्या की रात्रि को स्मशान मे जाए तथा तेल का दीपक लगाये. अपने सामने लाल वस्त्र बिछा कर ५ सफ़ेद हकीक पत्थर रखे तथा उस पर कुंकुम की बिंदी लगाये. साधक के वस्त्र लाल रहे. तथा दिशा उत्तर या पूर्व. उसके बाद साधक सफ़ेद हकीक माला से निम्न मंत्र की २१ माला जाप करे.
 शीघ्र सर्व लक्ष्मी वश्यमे अघोरेश्वराय फट
साधक को यह क्रम ५ दिन तक करना चाहिए. ५ वे दिन उन हकिक पथ्थरो को उसी लाल कपडे मे पोटली बना कर अपनी तिजोरी या धन रखने के स्थान मे रख दे.
=======================================
Dharma, artha, Kaam and moksha are four main pillars of the life. The motto of sadhana world is the person gets completeness in all these major aspects. For this reason, existence of sadhana related to material and spiritual both lives have remained. Our sages on one hand were rich in spiritual field on other hand they were complete in their material life also. In every field of sadhana, sadhana related to these major pillars does exist. This way, in aghora field also, existence of various sadhana stays for to have solutions of the material life’s trouble. Impacts of these sadhana are very powerful, and in a short span of time quickly one may have result of the sadhana. Continuity of the money flow is much essential in this time era. It is basic fact for sadhak to achieve success in the entire field. Till the time one does not know about ‘Bhoga’, how does one expect to know about ‘moksha’. With this basic thinking every specific sadhana has its own particular place. However amount of the hardwork is put by the person but if fortune does not accompanies, it becomes not easy to have success. At this moment of time person should take help of the sadhana and to accomplish the works one should take blessings of divine power. It is our right to have completeness and with sadhana it could be made possible. In today’s time at every step one needs wealth for any task. Everyone owns dream to become rich. There is existence of many ritual related to goddess lakshmi in Aghor method but when it is about quick money gaining then sadhana related to this field is unbeatable. These rituals of aghori work very quickly and fulfil desire. The ritual related to quick wealth gaining will let person have money in some or other form and that too in quick speed. If this important and secret process is done by sadhaka then however the stars of misfortune may be or hard work may not be getting ground, one will for sure gains money.
Sadhak should go to smashana on 8th night or last night of dark moon and light oil lamp. One should spread red cloth in front and place 5 hakeek stones on it and one should mark them by applying red vermillion on it. Cloths of sadhaka should be red and direction should be north or east. After that with white hakeek rosary one should chant 21 rounds of the following mantra.
Om Sheeghr Sarv Lakshmi Vashyame Aghoreshwaraay Phat
Sadhak should do this process for five days. On the 5th day one should tie those hakeek stones in the same red cloth and place it in cash coffer or at the place where money is kept.   

                                                                                               
 ****NPRU****   
                                                           
 PLZ  CHECK   : -    http://www.nikhil-alchemy2.com/                 
 
For more Knowledge:-  http://nikhil-alchemy2.blogspot.com

No comments: