There was an error in this gadget

Saturday, August 27, 2011

KAARYA SIDDHI SADHNA PRAYOG


कुछ साधना प्रयोग तो हर दिन प्रारंभ किये  जा सकते हैं तो कुछ  के  लिए हमें  विशेष  दिन  रुकना  पड़ता  हैं ही .  इन विशेष  दिनों में  ग्रहण  काल का अपना ही महत्त्व हैं,   जिस  काल मे  एक   माला मंत्र जप   का सेकड़ों   गुना  असर मिलाता हैं पर इसका ये अर्थ हैं की   जो  साधना  १०० माला  जप  की हैं  उसके लिए  एक माला  मंत्र जप कर लिया जाये  तो वह पूरी हो गयी ?,
  नहीं नहीं……
  असर १००  गुना मिलेगा पर  आप को   जितनी माला  किसी भी  साधना   में निर्दिष्ट   की गयी हैं   उतना  तो  जप आवश्यक हैं ही चूँकि  उसका  परि णाम कई  गुना  मिलता   हैं  तो सफलता  कई  गुना सभव  हो ती हैं.
              हम सभी को अनेको  कार्य चाहे वह छोटे  हो या बड़े  हो   से  दिन   प्रति दिन  सामना करना  ही  पड़ता हैं ही पर  जहाँ कार्य हैं तो  मन में परेशान होना भी स्वाभाविक  हैं की  क्या परिणाम   होगा? ,  पर कुछ तो काम ऐसे  हैं जिनकी  की सफलता  हमारे लिए  बहुत  ही अर्थ रखती हैं  जैसे   जाब के लिए साक्षात्कार , अपने पुत्र  या पुत्री को किसी  अच्छे स्कूल  में एडमिशन  दिलाना या फिर घर मकान  के लिए लोन  लेने संभंधित  या कभी इनके  लिए कई  जगह  लोटरी  के माध्यम से आवंटन  किया  जाता  हैं  ऐसे अनेको  कार्य गिनाये   जा सकते हैं     .
 अब हर कार्य  के  लिए एक एक साधना   तो नहीं की जा सकती हैं  क्या  कोई एक साधना  ऐसी  हैं  जिसके माध्यम से किये  गए हर कार्य में सफलता   की सम्भावना कई गुना   मिल सके . किसी भी  बृहद साधना  को संपन्न  करने  की बात ही कुछ ओर हैं  क्योंकि उसके संपन्न होने पर  जो उर्जा आपमें निहित  होती हैं  वह तो कल्पना से परे हैं पर  सरल साधनाओ  का अपना ही एक अलग   ही असर  हैं
एक ऐसा   ही    सरल प्रयोग आपके सामने  हम रख रहे हैं ,
 जिसे आप समपन्न करके  जीवन में  सफलता   का आगमन  कर सकते हैं .
यह कार्य सिद्धि का मंत्र  है, मंत्र जप के बाद किसी भी महत्वपूर्ण कार्य को संम्पन करने से पूर्व १ माला कर  लेने पर कार्य सिद्धि होती है और जितना संभव हो पूर्ण लाभ प्राप्त होता है
ॐ  सर्वोदय सम्पूर्ण लाभ प्राप्त्यर्थे नमः
साधना नियम :
·         जप  रुद्राक्ष  माला से करे
·         ग्रहण काल में  पहले ११ माला  जप   गुरु मंत्र की करे
·          फिर इस मंत्र  की  ११00 बार  उच्चारण  करे
·          जप  की दिशा उत्तर दिशा  होनी चाहिये
·         वस्त्र और आसन भी सफेद  हो ना चाहिए
·         सफलता  प्राप्ति के  लिए सदगुरुदेव भगवान् से प्रार्थना  करे 
आज के लिए बस इतना
**************************************************************************                              Some  sadhana  can be started  on any day   but   for some specific ,you have to wait  for specific  day  like grahun ,  this day of grahun have a  very specific quality  whatever mantra jap  you do ,100 times of that  jap result  you will get , that means  if any sadhana of 100 mala mantra jap , and we will do only 1 mala in this graham period  so  that will be completed ???
No..no..
                             Result will be  100 times  but   you have to required the mantra jap as directed in that sadhana. yes the result  is many times  so the possibility of getting  success  will be much much higher.
                           There are  so many work whether they are small or  big , always  comes in our way    in day to day life and  some  of   have so much importance  that  on the success of that work , we became worried. Work like  job interview , getting  admission of our children in any  prestigious  school , or  getting approval of loan  for our  home , or some times  through lottery system  the  house allotment has  been done , like that so many work…..
This will not be possible that for each  work we will start a separate  sadhana .
     is there any sadhana from which the success of any work what we undertake   will be successful or the possibility of  getting success is much much higher,.
        When we get success in any big sadhana  that is great things  since so much divinity comes in our body that is another experience. But  theses very easy prayog  have also  a place
One  of them here  for you ..
Through that  you can increase the  possibility of success
This is the kary  siddhi mantra , after completing  the sadhana  vidhi when  you have to go  for any  work  just chant one  round of this mantra   and  go ahead.
 Om sarvodaya  sampurna  labh praptyarthe namah

 General  rules:
1.    Do jap with  Rudraksha  rosary .
2.    In grahun kaal  first   jap 11 round of rosary   of guru mantra.
3.    Than chant 110  times the  kary siddhi mantra
4.    Direction should be  north
5.    And the  cloths and aasan should be white
6.    For getting success in this sadhana ,pray  to our beloved sadgurudev  Bhagvaan.
This is enough for today
****NPRU****

No comments: