There was an error in this gadget

Monday, November 28, 2011

विषेले हानिकारक जंतुओ से रक्षा कारक : एक साबर प्रयोग


साबर  मंत्रो का  जादू  तो  सारा  विश्व  मानता हैं  और  जितना  ज्यादा    मानव  जीवन  को इन्होने  स्पर्श किया हैं वह शायद   ही  कोई अन्य साधना  पद्धिति कर पाई  हो , आप  सर दर्द  से ले कर  पाँव दर्द तक ..... सामान्य  से  बुखार से लेकर   अत्याधिक  परेशानी करने  वाले  रोग  तक  और    जो सामान्य   सी कही जाने  वाली बीमारी से   लेकर   किसी  अन्य से  न कह सकने  वाले   रोगों पर  भी  इस साधना  क्षेत्र में  आचार्यों की  दिव्य  दृष्टी रही हैं, 
 अनेको  विधान  जो कई बार   जिन  पर बिश्वास    भी नहीं  हो पाता   की यह कोई असर दे  भी पायेंगे पर  जब  इतनी जल्दी से उनका  असर  पाया  जाता  हैं या  मिलता हैं  तो  बरबस  व्यक्ति इन  साधनाओ की  उच्चता के  सामने  नत मस्तक  हो  ही जाता हैं.. अभी तक   तो मात्र  कुछ साधारण  आयाम   ही  हमारे  सामने  आये हैं पर   इन मंत्रो के  उच्च आयामों   पर  अभी  भी पर्दा  पड़ा  हुआ हैं. 
  और अनेक ऐसी  ही  परिस्तिथि  में  से एक हैं खास  कर  हमारे  ग्रामीण  भाई  बहिनों के  सामने  अक्सर    जाती हैं  या जिनका   कार्य  क्षेत्र   जंगल  आदि में  हो या   जो किसी भी  जड़ी  बूटी कि खोज में   जंगल  जाते  हो या  कभी  यह भी संभव हैं की हमारे स्वयं के  घर में  भी  ,  जब भी आपका  सामना  कोई भी   इस  तरह से  हानिकारक  और  बिष   युक्त  जीव से  हो  फिर वह चाहे नाग   हो   या सर्प  हो या  कोई भी जंगली पशु  हो जो आपको लगता हैं आपको  नुक्सान  पंहुचा  सकता हैं
  इस  मन्त्र की मात्र 7 बार पढ़ कर एक फूंक  उस  ओर मार दे वह निश्चय   ही  आपसे  से दूर  आपना     मार्ग कर लेगा  , पर इस प्रक्रिया   को करने  से पहले  इस मन्त्र   को  किसी भी  शुभ पर्व  या  ग्रहण काल में  या मंगल वार  सिद्ध करना  आवश्यक  हैं ,  और  हमने  सामने  साबर मंत्रो को  सिद्ध करने के नियम  कई बार  दे  चुके हैं अतः   हर  बार उन्ही को दुहराना  ठीक नहीं हैं  उसी प्रक्रिया  से  सिद्ध कर ले   और इस  प्रक्रिया  में सिद्ध करने मन्त्र  जप केबल  108  बार  ही  करना हैं l
 मन्त्र  :
 फकीर   चले परदेश  कुत्तक   मन में  भावे   बाघ  बांधू बघाइन  बांधू   बाघ के  सातो   बच्चा बाँध  सौपा चोरा  बांधू  दात बंधाऊं   वाट  बांधि दाऊ   दुहाई   लोना  चमारी   की    
****NPRU****

6 comments:

Santosh Kumar Gupta said...

Very useful mantra for one's daily life

nikhil said...

Dear NPRU plz give mantra in English also. Thanks

JAI DADU SIVE SIVE said...

BHUT BADIAYA BHIYA SADHNA K DURAN ES TRAH K VIGHAN BHI AATE HAI KOI CHUHA CONKROCH YE SAB ACHANAK AA HATE HAI SADHNA SAMGRI PAR CHOKI PAR HARKAT KARTE HAI KYA YEH PRYOGE SADHNA K SAAMYA KAR SAKTE HAY

JAI DADU SIVE SIVE said...

BHIYA SADHNA YA JAAP K SAMYA ACHANAK KOI CHUHA'COCRONCH'KUCH KIEDE AADI AA JATE HAI AB DHYAAN BHATKTA HAI KYA ES PROYG SE YE PROG SHAHAYTA KAREGA

Taiyakes said...

jai guru dev,
is there an english translation for this sadhana.

thanks for your kind help

Anu said...

dear brother , mantra is in ...
"fakeer chale pardesh kuttak man me bhave baagh bandhu baghayen bandhu bagh ke sato bachcha baandh soupa chora bandhu daat badhaun vaat baandhi dau duhayi lona chamari ki"
smile
Anu