There was an error in this gadget

Saturday, November 12, 2011

AN EASY SABAR MANTRA FOR ANY TYPE OF HEAD-ACHE


एक साबर प्रयोग:   सर  दर्द  दूर  करने  हेतु
उच्च कोटि की साधनाओ   का  यदि महत्त्व  हैं   तो  सामान्य और सरल साधनाओ   का  भी  महत्त्व  नकारा  नहीं जा सकता हैं ,  क्योंकि जहाँ पर  सुई   का काम  हैं वहां  पर  तलवार की क्या  उपयोगिता , इस  तथ्य  को ध्यान  में  रख कर  हम दोनों प्रकार  के प्रयोग   सरल  और  कठिन  तो  आध्यात्मिक   और सामान्य   जीवन में  उपयोगी साधना भी आपके  सामने लगातार रखते जा  रहे हैं ...
   साधक  गण   सामान्यतः   धन सबंधित   प्रयोगों में  अधिक  रूचि रखते हैं क्योंकि   धन की आवश्यकता  से  कौन  नहीं  परिचित हैं    परन्तु  धन  कमाने  के लिए  एक स्वस्थ्य   शरीर  और  मनस  स्थिति   का  होना   जरुरी हैं   और  आज  के  जीवन  शैली  का  दोष  कहे  या     कुछ  मिलावटी सामानों  की कृपा   की , आधिकांश तः  हर व्यक्ति      कोई न  कोई  रोग से पीड़ित हैं  ही   और ऐसे  रोगों में  बहुत ज्यादा  परेशान  करने वाला  हैं
                         सर दर्द   का  रोग  उसमे  भी  खासकर   आधे  सर  के  दर्द    के  रोग से पीड़ित  व्यक्ति से  ही  पूछिये   की उसकी  जिस  समय  वह  रोग  अपना   प्रभाव दे रहा  हो   उस पर क्या बीतती हैं ,   न केबल  वह  बल्कि  उसके  घर के लोग भी  उसकी समस्या  से  परेशां  हो जाते हैं .  तो क्या  कोई सरल सा   उपाय हैं  भी जिसको सिद्ध करने में  कोई ज्यदा श्रम भी     करना  पड़े   और  लाभ भी  प्राप्त  हो , साबर मंत्रो मेंऐसे   कई विधान हैं  जो आपके  लिए  या  आपके परिवार के  किसी  भी पीड़ित  व्यक्ति के लिए  अनु कुल  हो सकते हैं   क्योंकि  स्वास्थ्य     रक्षा   तो जीबन  में  सर्वोपरि  हैं  और   जीवन में  उन्नति  के लिए   समग्र  रूप से स्वस्थ्य   होना  भी चाहिए  .

मंत्र : 
हज़ार  घर घाले  एक घर खाय , आगे  चले  तो   पीछे  जाय , फुरो मन्त्र  इश्वरो वाचा |

                    अब इस मन्त्र   को सिद्ध  करने  का  विधान सरल  हैं   हालाकि  हमने  एक पूरा  साबर मंत्रो  पर  तंत्र  कौमुदी का एक पूरा अंक  निकाला   था  जिसमे   हमने  हर उस  विधान  की  विस्तार से  चर्चा की थी  जो की  साबर मंत्र  सिद्ध करने  के लिए  जरुरी  हैं  , पर यह   तो एक सामान्य   मंत्र हैं पर   इसका  उपयोग   जरा सोचिये  किसी भी पीड़ित व्यक्ति का  कितना     आशीष  आपको  मिल  सकता   हैं .
   विधान :                                                              
सामन्यतः -  पीले रंग के  वस्त्र या आसन   पर  बैठ   कर
दिन या  रात्रि में  कभी भी
मंत्र  संख्या  1008   जो की  किसी भी शुभ  पर्व  या  ग्रहण काल में   की  जा सकती हैं .
और  कोई  और  विशेष  नियम नहीं हैं .
सिर दर्द से पीड़ित   व्यक्ति  के  माथे पर अपना  हाथ  फेरते  जाए   और   कुल सात बार   इस  मंत्र का उच्चारण करे और सात बार फूंक   मार दे,  पीड़ित व्यक्ति को  लाभ मिलता  हैं ही .
भले   ही यह एक सरल प्रयोग  लगे  पर इसकी भी  अपनी विशेषता हैं  ही .
 आज के लिए बस इतना   ही
****************************************************
        If  the utility of  higher  level sadhana are well  understood by every one  than   the importance  of easy   sadhana  also  can not  be  underestimated.  Since  where  a  single  pin  can work   on that place a sword  can not . keeping in mind  these  facts  we are continuously publishing  the prayog  some are  from very  high     level  than  other from very simple  one ,  if some  prayog related  to   spiritual   world  than  some  also related  to modern day  to day life problem.    
      Generally sadhak  are  much  interested   towards   the prayog  that are    related  to  financial   side or  financial aspect  of  life ,  and   its  quite  natural since  who  can deny the  importance of   finance in this modern   era,    but  its  also a  well understood   thing  that to earn    finance a healthy  body and  mind/mental  condition  is also  required, ,  but for  our  illness , whom   we  can accuse  either   our  defective  life  style   or   impure   food  product . so every one  is suffering from  some  dieses . minor  or  major as the case may be.  And in that  ,  the  dieses  which  creates  a lot of  problem is  headache   in that  migraine  is  very  painful . ask    to  those  who is  suffering from this   dieses  or  from their  family member.

 Is  there any   sabar mantra  prayog that can be  very helpful  , and  also  do not  required much time  to get siddhita .  since   who do not want a  healthy  life and also a healthy body.
Mantra :
Hazaar  ghar   ghale  ek   ghar  khaay , aage    chale  to pichhe   jaay ,furo mantra  ishwaro vaachaa .
   The process of getting  siddhita in this mantra is   very simple , actually  we  have  published a  complete   full    issue of our   TANTRA KAUMUDI  e mag  on  sabar  mantra  , in that we have  dealt the  subject in details  in every aspect   of this  sabar mantra.  This  is  very simple  mantra  and  think about a  minit  , what  blessing and  thankfulness  you can receive  if  you are  able  to heal  any  person  who is  suffering from   this illness.
General  rules:
Can use  asan  and  clothes  of yellow   color.
You can  jap  any time  means   either day or   in night.
You  have  to  recite /chant only 1008 times.   If that  can be  done on  any  auspicious   day   or  in grahan  time.  That would  be  much better .
And   no  other  any special  rules.
  When any   person suffering  from this    illness  comes  before  you ,  simply   move   your  palm  over  his  fore head (with touch). And chant  only  7  times of this mantra  and  seven times phoonk  (blow the  air  from   mouth )on  the  forehead.    He  will  get  relief   from the pain .
  Though   this is  very  simple prayog   but   no one  can deny its  importance
  And   this is  enough for  this  day .
****NPRU****

2 comments:

Taiyakes said...

jai guru dev, thanks for very usefull mantra.

its says that all the illness is our own karma. if we are removing this illness from other person we are releasing them from their karma.

where do the karma goes then ? will the person who do the process effected by this ?

thanks for your answer.

regards

Anu said...

dear brother , you can visit face book , "nikhil-alchmey" group this articles "मेरे अपने सभी प्रिय भाई बहिनों और मित्रो से.. और के लिए कुछ बाते ...... भाग- 119 " in that i tried to discuss the things, .
..
if still some part unanswered do reply to me , i will answer.

smile,