There was an error in this gadget

Saturday, October 15, 2011

TANTRA KAUMUDI’S NIKHIL TATV SAYUJJY SHRI SADHANA MAHAVISHESHANK is releasing soon …


 आप सभी के स्नेह से  ,और उत्साह से  आभारित   होते  हुए  हम यह  सूचना   इन पंक्तियों   के माध्यम से   आप को  दे रहे हैं  की  तंत्र  कौमुदी  का  अष्ठम   अंक  जो की "निखिल तत्व  सायुज्ज्य  श्री  साधना  महाविशेषांक "   शीघ्र     ही प्रकाशित   होने  जा  रहा हैंहमारी पूर्ण   कोशिश रहेगी  की यह  महाविशेषांक आप  तक  20   oct की रात्रि   तक आपके  पास पहुँच ही जाये  जिससे  की आप  दीपावली के  पांचों  दिवस का   न केबल    पूरा  उपयोग कर सके  बल्कि  इन  महाविशेषांक  की साधना   की पूर्णता  सदगुरुदेव  के  सन्यास  दिवस   तक  9 nov  तक  कर भी पाए ..

                 और आप सभी जानते हैं की हमने  हर  अंक में  अधिक से अधिक  कोशिश  की हैं  की  वह  अंक केबल  हर माह  कोई  अंक  निकलना  हैं इसलिये  ही  नहीं निकाला  हैं बल्कि हर आने वाला  अंक ,  विगत  अंक   से  बेहतर  और  श्रेष्ठ  हो .

और  दिन दिन आपका  हम पर  बढ़ता  बिश्वास    और स्नेह  इस बात का  स्वयं  ही साक्षी हैं की  हमें  अपने प्रयासों   में सफलता   मिल भी रही हैं ..

आप सभी यह जानते हैं की किसी भी पत्रिका  की साज सज्जा  एक आवश्यक   अंग  तो हो सकती  हैं पर  उसमे  क्या सार गर्भित साधनाए  सामग्री  हैं  उसका  कहीं  ज्यादा    महत्त्व  होता हैं यहाँ  पत्रिका  के  पेज  नहीं बल्कि  वह अंक  अपने  नाम के नुसार   विषय वस्तु   को पूर्णता  से रखता हैं या नहीं ...  इस कारण हमने एक बार एक  महीने   के  अंक  को  दो भाग  में  भी आपके सामने  रखा  हैं.

 तो आइये   इस  अंक  के लेखों  के  बारे में  कुछ .

1, पूर्ण  श्री निखिलेश्वरानंद  प्रत्यक्ष  तत्व   सिद्धि साधना ....   क्या कभी आपने कभी भी इस साधना  के बारे  में  सुना हैं ?? वह परम   दुर्लभ   अद्वितीय  साधना   जिसके   माध्यम से  साधक  निश्चय  ही  सदगुरुदेव के  द्वारा अभीष्ट दीक्षा   की प्राप्ति   करता हैं .साधक  की एकाग्रता  की गहनता   उसे   ध्याना वस्था में  ले जाकर  यह संभव  बनाती हैं और वह उस  निखिल तत्व से युक्त   हो जाता हैं   जो  किसी भी काल  की सृष्टि  को देख सकती हैं .अब क्या   कहेंगे  आप ...

2, शक्तिपूर्ण    पूर्ण शक्तिपात सिद्धि साधना -  इस साधना  के माध्यम से  साधक   ने  पहले  जितने  भी शक्तिपात प्राप्त किये  हैं    न केबल उन्हें  ही बल्कि   जो भी  अनेक  दिव्य सिद्धो   के  द्वारा  परोक्ष   या अपरोक्ष    रूप से  शक्तिपात   साधक पर  हो रहे हैं  उन्हें  भी  वह   संचय कर   प्रयोग  कर पाने  में सफल    हो जाता हैं 

3, अद्वितीय   ब्रम्हत्व  गुरु  सिद्धि साधना - सदगुरुदेव के   पूर्ण विराट रूप  के दर्शन और  उनका  आत्म एकाकार करने  में सहायक  साधना  का  तृतीय  और  अंतिम चरण जिसके  बाद  एक  शिष्य के   लिए  कुछ भी शेष    नहीं रह जाता .
4,  निखिल तत्व सायुज्य  भगवती  राज राजेश्वरी  साधना -जीवन की एक आधार  भूत  साधना   जिसके माध्यम से  एक  सफलता  पाता  हुआ  साधक एक पूर्ण  श्री युक्त  जीवन   को भी प्राप्त कर लेता हैं .

5. श्री प्राप्ति  हेतु  महानिशा  साधना(एक पूर्ण क्रम) - दीपावली की  इतनी महत्ता   क्यों    हैं  और  इसके  पांचो   दिन ऐसे  कौन  से ऐसे   विधान किये   जाते हैं की एक पूरा  क्रम  हो  जाये और जिससे   की आयु ,आरोग्य  और   धन  ,रक्षा  और अभीष्ट   प्राप्ति   हो ,उन सभी  दुर्लभ   विधानों   को  खोलता   हुआ  एक अद्वितीय  रहस्य   युक्त साधना  

6. निखिल बीज  श्रीं साधना -   यह सारा   विश्व  मात्र  तीन महाशक्तियों  पर आधारित हैं  और उनमे  से  एक   की  श्रीं की साधना   जी निखिल  तत्व से  युक्त हो  वह  तो अनिर्वचनीय हैं   दुर्लभ  हैं  और  केबल   और केबल  सदगुरुदेव की कृपा  से   ही संभव हैं ऐसे  दुर्लभ साधना   आपके  लिए   जीवन  की उच्चता   के लिए  एक उपहार  ही सिद्ध  होगी .
7, निखिल ऐश्वर्य   साधना -  जीवन में  श्रेष्ठ  ऐश्वर्य   क्या  हैं और   वह  यदि  निखिल  तत्व  से  यदि  जुड़ा  तब  तो  क्या   कहने ....    एक ऐसा  विधान  जो इस  रहस्य के  छुपे  आयाम  खोल  रहा हैं.
8.निखिल  भाग्योदय साधना - बिना  भाग्य  के  कुछ भी संभव  नहीं हैं ,    जीवन   की विसंगतियों को देखे   तो यही लगता हैं पर अब   जो विधाता  ने लिख दिया उसे कैसे  बदले  …..    पर सदगुरुदेव के    वरदायक   स्वरुप से   संबंधित साधना    जो आपके  लिए  एक  बार  पुनः   भाग्य के .... सफलता  के .... दरवाजे     भी खोल रही हैं क्या  अब भी कोई अपने भाग्य  को सवारना  नहीं चाहेगा .. 
निखिल  वैभव साधना ---     जीवन में  ऐश्वर्य   और वैभव  में  बहुत   ही थोडा  सा  अंतर  हैं ,  पर  कैसे  इस   भाग्योदय  के  साथ अपने   भौतिक  जीवन को  भी  पूर्ण वैभव   से परिपूर्ण बनाया  जा सकता हैं ..इस  एक साधना  से  जब सदगुरुदेव   ही वैभव  अपने मानस  पुत्र  और पुत्रियों को देने  में  तैयार  हो  गए  हैं   तो   क्या   अब शेष रहा ..
1०.निखिल तत्व  श्री सायुज्य साधना -  लक्ष्मी  ही नहीं  बल्कि इस  देव  दुर्लभ  साधना   तो श्री से संबंधित    हो     फिर  जब इसमें  सदुगुरुदेव  निखिल  तत्व  का  संयोजन   हो जाये  तब कहाँ लेखनी  लिख सकती हैं की  यह    सर्वथा  गोपनीय साधना  आपके लिए  क्या  कर सकती  हैं आप  खुद    ही साधना  संपन्न कर देख लीजिये . 
                                 पर  इन सभी देव दुर्लभ  साधनाओ   के साथ  आपको    हमेशा  की तरह  भगवान्  गणपति  , और  भगवती  लक्ष्मी के  सरल प्रयोग  तो होंगे ही   साथ ही  साथ आयुर्वेद   और  टोटके विज्ञानं  के  अलावा  आपके सामने  ज्योतिष   में  अंक विज्ञानं के  कुछ  तथ्य   तो होंगे   ही  पर    सूत  रहस्यम  और  स्वर्ण   रहस्यम  में  देखिये  प्रकृति   के  कौन कौन से  दुर्लभ रहस्य  आपके सामने  आते हैं ...
अब  बस 20  oct  तक थोडा  सा इंतज़ार  कर  लीजिये  ...
***************************************************************************************************  
Dear Friends,
We are    very happy to informal  of you that the  Eighth issue of   TANTRA  KAUMUDI  ( NIKHIL  TATV  SAYUJJY SHRI SADHANA   MAHAVISHESHANK “    is in  final phase  and  soon  to be released .  we  here  working  hard   doing our  best  so that this  issue   will be in  your  hand  on the night  of   20 th october. So that  not only  you can   utilize  all the  five days  of Deepawali  festival  but  , can also complete  your sadhana  till  the  Sadgurudev  ji’s  sanyas  divas ie  9 nov.
 As  you all very well aware of this facts that , we  did our best  to bring each coming    to be  best on  compare   to  previous ones. we  are  not  publishing any issue of  any month  ,is because  we have  to  do .. but  each  issue  should be  unique  one  and  must be having divine  gyan of  Poojya Sadgurudev   ji..  that never  come before    in front of you .
And  days  by day , we are getting yours  increasing   support  and  love /senh  so much  that  we are really surprised  and  this is one of the  sign that   we are moving in right direction and  getting success.
  The  fancy design of  any  magazine  may be  a essential part  but  what is most  matters  that whether  that contains   the  really valuable  sadhanaye  or  divine  gyan.  This is  most   important  factor, and  here  the  number of page  is not important to us  but   whether  the  issue  based on  particular   topic  fully justified  and  that one  and completely covered   all the aspect  is as possible as …is  important.  And thats why we had to  publish   two  part  in a particular  month  if we think so ..
  So  lets  see  some of the  highlights  of  coming issue.
1.      Purn  shri  nikhileshwaranand  pratyksh tatv siddhi  sadhana – have  you ever herd  about this sadhana ?   this is  one  of the most secretive  and  highly important sadhana   and through this  ,any sadhak   can get any type of desired Diksha  from directly to Sadgurudev , the  intensity of sadhak and  concentration leads   to him  in a  meditative situation  ,where this   becomes  possible and  when  he  is with Nikhil tatv   than  he  can watch   the  creation  related  to all  the time  aspect.. now what would  you like  to say..
2.      Shakti purn shaktipaat sadhana -  through this dev durlabh sadhana  , a common sadhak   too  ,  till  date  what ever the shaktipaat  he  already received , may save  and   also through divine  siddhas,   he  knowingly   or unknowingly    continuously receiving  whatever  the shaktipaat   can also save  and  utilize in any prayog..
3.      Adwitiy  bramhatv  guru siddhi sadhana -  to watch and  aatmsaat Sadgurudev  bramhaand  swarup   ….but how this  can  possible…..  a  very  gopniy sadhana’s  third  and  last  step , after that  what is  left for  a shishy….
4.      Nikhil tatv sayujjy  bhagvati  raaj raajeshwari sadhana -  this is  one  of the  such a  divine sadhana  that   give  your  life  a real  foundation   and  even on getting success in sadhana you can enjoy your life  with complete  shri tatv..
5.      Shri prapti hetu  mahanisha sadhana (A complete  kram)- why deepawali is  considered  so much importance and what are the various  process/vidhan  that   will give you  long life, illness free life, wealth , security  and achievement of  your desired  aim. But how  to  achieve  that …….revealing   this  secret  for  you.
6.      Nikhil beej shreem  sadhana – the whole  world is depend  upon three  maha shakti( three beej ) and  one of that is shreem  bheej ,  and  if that   is combined  with power of Nikhil  tatv,  so  the power of this that  can not  be explainable , and   this power can be possible  only   by Sadgurudev   grace.. and  such  divine  sadhana  is  for  you as a gift.
7.      Nikhil aeshvary  sadhana –what can be  considered  the real aeshvary  ,   and  if  that is associated  with  Nikhil tatv  than what a  blessing ..  but still question remains  how  to ..  one  sadhana  revealing this secret for you.
8.      Nikhil bhagyoday  sadhana – without  luck nothing can be possible  , as many  times  it seems  to be   true  , if  we watch  the  various  life complexities, but  how  we can  change our  fate ….since  that is  what  that can not be … but  if a sadhana that is  having  power of Sadgurudev  blessing  nothing can be  impossible.. that will again  open door  of  fortune  for  you..now who do not want to  change  his  fate..
9.      Nikhil vaishav  sadhana -  there  is little  difference  between  aeshvary and  vaibhav , about  having   bhagyody and still  we can  make  our  life   full  of  all  material  comforts.  But how…when  through this sadhana Sadgurudev  willing to give their manas  putr and putriyan  this  blessing  than…
10.  Nikhil tatv shri sayujjy  sadhana -  not only  lakshmi tatv  but this sadhana  having   the power of  shri tatv and  if Sadgurudev  Nikhil  tatv  also  associated  than  , how  we can able   to  write  , what   can this  sadhana  do  for you,   why  not  do this  great sadhana /most secretive  sadhana and see  /feel the  difference
                    Apart from all thses  very dev durlabh sadhana  our regular feature  like  ayurved and  totaka  vigyan ,  and  simple but effective  prayog  related d to bhagvaan ganesh and lakshmi  be already  there, and in addition to   in astrology section some  point regarding  numerology be there.  Buy  what is  the secret  of nature this  time reveling  to us in the  series of soot Rahsyam and in swaran Rahsyam every  body egar to know..
 Kindly wait  till the  night of 20 th  oct…..  




****NPRU****

No comments: