There was an error in this gadget

Monday, October 10, 2011

A very simple but effective prayog for To get desired job


  
दीपावली  का आगमन  होने  को हैं ,सभी धन  लक्ष्मी   के आगमन  की तैयारी में   व्यस्त हैं   ही , चारो ओर  सारा  संसार  मानो उत्सव की  तैयारी में लगे  दिख  रहे  हैं,   केबल बच्चे से  बल्कि  बड़े  बुजुर्ग  और   न केबल छोटे व्यापारी से  बल्कि बड़े  बड़े   व्यापारिक संस्थान    के  मालिक  भी ,  भला   कौन नहीं चाहता   की उसका  जीवन धन धान्य  से भरा  पूरा  रहे. भले  माँ  महालक्ष्मी के १००८ स्वरुप  हो पर  यह धन  लक्ष्मी   वाला स्वरूप   तो जीवन का आधार हैं  ही क्योंकि अगर  जीवन हैं तो  धन की आवश्यकता से  न कोई  योगी  …..  ही  कोई  साधारण  मानव   अपना मुख कैसे  मोड़  सकता  हैं .
 पर   जीवन की  यहभी कटु  सच्चाई   हैं की जिसके  पास धन नहीं   हैं उसके  लिए  त्यौहार का क्या  महत्त्व    पर वह फिर भी  आशा   रखता हैं की देखो  इस बार शायद ..
पर  मानने  से कभी भाग्य   बदलता ,, यही   तो हम सालो  सालसे  ही करते  आ रहे हैं और वेसे  के वैसे  ही रह जाते हैं , हम  सबको साधना का मूल्य   तो समझना  पड़ेगा   ही ..
 पर इसके साथ एक और बात सदगुरुदेव कहते  हैं की  अगर किसी  को  सर दर्द   हो रहा  हो और वह सारी मेडिकल की किताब  खोल कर   पढने बैठ  जाय  तो क्या  लाभ अभी तो यदि एक गोली  उसका काम कर सकती हैं तो वही  ही उपयोगी  होगी न..
मेरा कहने का मतलब आज के इस जीवन में  जब  इतना पढने के  बाद  भी मनो बांछित जॉब  भीं     मिल  पा रहा हो , और  सारे प्रयत्न   भी मानो निष्फल से  होरहे  हो  तब   व्यक्ति   जब  थक हार कर  साधना   की तरफ देखता हैं तो  यहाँ भी  सलाह देने वाले  एक  से  एक बड़े बड़े अनुष्ठान और   महगी   प्रक्रिया  उसे  बताते हैं  बिना  सोचे की   वह  कैसे कर पायेगा ,
यब क्या  उसके पास कोई  ओर रास्ता  नहीं हैं,
क्यों नही अनेको ऐसे  सरल प्रयोग  हैं  जिन्हें  कोई खर्च  भी नहीं हैं और बहुत कम समय के  क्यों न  हम वह करे  ,, और  उसका प्रभाव  देख कर  अपने जीवन  को फिर  एक सुगठित  तरीके से आगे साधना  के मार्ग पर ले जाए  न की  बड़ी बड़ी बाते  की यह साधना  और वह साधना ..... यह सब तो मन को बहलाने  की कोशिश  हैं जीवन की कठोरता  को भी स्वीकार  करें यह   गुण  और  योग्यता   होनी   ही चाहिए
और एक ऐसा  ही सरल प्रयोग
 मंत्र :
काली  कंकाली  महाकाली ,सुख सुन्दर  जिय  ब्याली  , चार   वीर  भैरव चौरासी ,बता  तू  पूजूं  पान  मिठाई , अब बोले काली की दुहाई  ||

साधारण नियम  : जो संभव  हो उसका  पालन  करे ,
उदाहरणार्थ :  संकल्प ,सदगुरुदेव पूजन,  गुरु मंत्र जप , निखिलेश्वरानंद  कवच का   फिर  जप  .
  आसन  , वस्त्र  संभव  हो तो पीले  ….यही तो जो आपकी इच्छा   हो , यह एक  साबर  मंत्र  प्रयोग हैं  तो धुप अगरबत्ती का प्रयोग और  भी उचित    रहेगा
  हाँ दिशा  जरुर   पूर्व रहेगी और  जप समय प्रातः काल होगा  साथ ही  साथ हर दिन  मात्र   56  बार ही जप करना  हैं       जब  तक सफलता नहीं दिखाई दे  तब तक इसे करते  जाये  ,सरल प्रयोग  हैं और समय भी बहुत कम लगता  हैं और  श्रद्धा  विस्वास से किये  गए इस प्रयोग का पहल आपको सदगुरुदेव   जी की कृपा से अवश्य   ही मिलेगा .आप शीघ्र  से रोजगार  युक्त हो कर सफल   हो .  

****************************************************************
 Now  , the  time  of festival of light is approaching ,and every body is busy in  preparing for that ,from children to older  one and from small business man to the owner of  big industrial houses , who do not want to have the  blessing of  goddess lakshmi  in his  life . though   goddess lakshmi has 1008  form  but her  form as a  dhan lakshmi is considered more   important   by  all of us,  since,  till  we have  life   we  cannot  deny the  importance of  finance .and  this  is equally applicable  to common person to even yogies.
 But this is also a bitter truth that if one  does not have money  than what is  the use of festival  to him.  But still  he keeps some wish that may be  in this year..

 But where the luck  changes  merely  by thinking / believing?,  and that’s what we are continuously doing  from so many years but still standing on the same place .  so we  do need to understand the value of sadhana..
And  one more thing that Sadgurudev used to say that  if  someone is suffering from  the headache  and  if that fellow  advised to read medical  book  to understand that , what Is  the use , means  where one small tablets .. if works … than ,, that will be  more useful .
Here my meaning is that  even studied   a lot  and  is not getting the  job as  he wants and all hi s/her  efforts are failing  and when   he has  no other potion person than look  towards   this sadhana field   for  hope, and  here also , if he has been advised  to go for  big sadhana  and expensive  prayog, than  how he can do..
 Is there any   way??.
Why not  there are many simple  but effective  prayog  and that  do not require  for  any expensive thing   or  great  amount of time , but if you do and get successful than you  can plan rest of your  much better way  with ease, but initially  going for  big big/lengthy  sadhana is  not  a justifiable and wise step, one must accept the  ground reality of life
And  here is the prayog
Mantra ;

Kali  kankali  Mahakali ,sukh sundar jiy byali ,chaar  veer bhirav chourasi ,bata  tu pujun paan mithayi ,ab bole kali  ki duhayi ||  

 General rules:
 Follow the   general rules applicable  for  sadhana  like sankalp , than sadgurudev poojan ,guru mantra jap and    than  this prayog,
  No restriction   on aasan, clothes’ color , but if  possible than yellow  will be  fine. this is the sabar prayog so  if possible  than  dhoop agar batti should be used .
 Off course direction will be  east and   time  for jap will be early  morning  and  you have to  do only 56 times reciting of this mantra daily , and  do  it continuously till  you get success,   if you do this   simple prayog  so  with  the blessing of  Poojya Sadgurudev ji ,  you will  definitely  get success to get a   job  you want.
****NPRU****

No comments: