There was an error in this gadget

Thursday, July 21, 2011

SARV BAADHA VINASHAK SABAR SADHNA


कई बार व्यक्ति की समृद्धि अचानक रुष्ट हो जाती है,सारे बने बनाये कार्य बिगड जाते है,जीवन की सारी खुशिया नाराज सी लगती हैं,जिस भी काम में हाथ डालो असफलता ही हाथ लगती है.घर का कोई सदस्य जब चाहे तब घर से भाग जाता है,या हमेशा गुमसुम सा पागलों सा व्यवहार करता हो,तब ये प्रयोग जीवन की विभिन्न समस्याओं का न सिर्फ समाधान करता है अपितु पूरी तरह उन्हें नष्ट ही कर देता और आने वाले पूरे जीवन में भी आपको सपरिवार  तंत्र बाधा और स्थान दोष ,दिशा दोष से मुक्त कर अभय ही दे देता हैं.

इस मंत्र को यदि पूर्ण विधि पूर्वक गुरु पूजन संपन्न कर ११०० की संख्या में जप कर सिद्ध कर लिया जाये तो साधक को ये मंत्र उसकी तीक्ष्ण साधनाओं में भी सुरक्षा प्रदान करता है और यात्रा में चोरी आदि घटनाओं से भी बचाता है.मंत्र को सिद्ध करने के बाद जिस भी मकान या दुकान में उपरोक्त बाधाएं आ रही हो,किसी प्रेत का वास हो गया हो या अज्ञात कारणों से बाधाएँ आ रही हो,उस मकान में बाहर के दरवाजे से लेकर अंदर तक कुल जितने दरवाजे हो उतनी ही छोटी नागफनी कीलें और एक मुट्ठी काली उडद ले ले.इसके बाद मकान के बाहर आकर  प्रत्येक कील पर ५ बार मंत्र पढ़ कर फूँक मारे और उडद को भी फूँक मार कर अभिमंत्रित कर ले,जितनी कीलो को आप अभिमंत्रित करेंगे उतनी बार उडद पर भी फूँक मारनी होगी.अब इस सामग्री को लेकर उस मकान में प्रवेश करे और मन ही मन मन्त्र जप करते रहे.आखिरी कमरे में प्रवेश कर ४-५ दाने उडद के बिखेर दे और और उस कमरे से बाहर आकर उस कमरे की दरवाजे की चौखट पर कील ठोक दे.यही क्रिया प्रत्येक कमरों में करे. और आखिर में बाहर निकल कर मुख्य दरवाजे को भी कीलित कर दे.इस प्रयोग से खोयी खुशियाँ वापिस आती ही है. ये मेरा स्वयं का कई बार परखा हुआ प्रयोग है. 
मन्त्र-
ओम नमो आदेश गुरुन को ईश्वर वाचा,अजरी-बजरी बाड़ा बज्जरी मैं बज्जरी बाँधा दशौ दुवार छवा ,और के घालों तो पलट हनुमंत वीर उसी को मारे,पहली चौकी गणपती,दूजी चौकी हनुमंत,तीजी चौकी में भैरों,चौथी चौकी देत रक्षा करन को आवें श्री नरसिंह देव जी, शब्द साँचा,पिण्ड काँचा,चले मन्त्र ईश्वरो वाचा.
======================================
Some time we see that each and every happiness gets over from life, every attempt of success meets with failure, family life gets upsets, any person of family doing what he or she wants to do, leaving family without any reason then this mantra not only brings back not only happiness and prosperity but also remove the problems of Sthaan Dosh, Disha Dosh and make them permanent prosperous.
If one get sidh this mantra by moving rosary 1100 times  then it protects the person from his deadly problems, secure him and his belongings during journey but to get all this done firstly one should do Guru Poojan. After getting mantra sidh in which house or shop mishappenings are occurring, some ill powers are residing there then from the main gate of that place to the every internal or external gate count them and take equal quantity of SMALL NAAGFANI NAILS(keel) and a handful of Black Odaad cereal( daal) . After that come out from the house and enchant 5 times mantra on every nail (keel) and blow mouth air (phoonk maarna) on it and cereal (daal). Each time when you will enchant mantra on nail equally you should do the same with the cereal now having these things in the hand entered into the house but internally keep on enchanting mantra japp. Finally while entering in the last room of the house spread some cereal(daal) and then come out from the room and mark the nail on the slit of door( ek keel drwaze ki chokhath per thook do). Follow the same procedure at each and every door then finally on main gate. This is my personal recognized practical.
MANTRA-
OM NAMO  AADESH GURU KO ISHWAR VACHA,AJRI-BAJRI BADHAA BAJJRI BAANDHAA DASHAU DUWAR CHHAWA,AUR KE GHALON TO PALAT HANUMANT VEER USI KO MAARE,PAHLI  CHOWKI GANPATI,DOOJI CHOWKI  HANUMANT, TEEJI CHOWKI  MEIN BHAIRO, CHOUTHI  CHOWKI DET RAKSHA KARAN KO AAWE SHRI NARSINH  DEV JI, SHABAD SANCHA, PIND KAANCHA, CHALE MANTRA ISHWARO VACHA.
****NPRU****

No comments: