There was an error in this gadget

Friday, July 22, 2011

Teevra Yaksh Gandharv Siddh Saabar Sadhna:-


इस ब्रम्हांड में अन्य वर्ग की शक्तियों का भी वास है,जिनसे हमारी सभ्यता प्रभावित होती रहती है,इन उच्चस्थ या निम्नस्थ वर्ग की शक्तियों को अपने अनुकूल बना कर मनोवांछित लाभ पाया जा सकता है.साबर मन्त्रों में बहुत से ऐसे मंत्र हैं जो बहुत से अलग अलग कार्यों के लिए प्रयुक्त होने हैं.निम्न मंत्र जहाँ उपरोक्त शक्तियों को पूर्ण रूप से वश में करने के काम आता है वही ये सामान्य मनुष्य के लिए भी तीव्र प्रभावकारी है. सावन मास के किसी भी ११ दिनों में या ग्रहण काल में इसे जप कर सिद्ध कर ले,सावन में १००००० की संख्या में जप करना होगा और ग्रहण में १०० माला जप करना होगा,सामने महासिद्ध गुटिका हो तो अति उत्तम नहीं तो साबर सिद्धि यन्त्र तथा सुपारी रख कर इसे जप करना चाहिए.नित्य गुरु,गणपति.दुर्गा और शिव पूजन होना चाहिए.नित्य जप के बाद २१ आहुति गूगल की देना है.साधना पूरी होने के बाद  कोई भी वस्तु,कपडा या सामग्री ३२४ बार मन्त्र पढकर  अभिमंत्रित करके किसी को भी देने से वो पूर्ण अनुकूल हो जाता है,और यदि कुछ न हो सके तो मंत्र पढ़ कर  फूँक मर कर भी यही स्थिति प्राप्त की जा सकती है.पूर्णिमा की रात्रि को इसी मंत्र की १०८ माला जप पर्वत शिखर पर उत्तर मुख करके  करने से और सुगन्धित पुष्प,लवंग,खीर इत्यादि का भोग चढाने से यक्ष व गन्धर्व जाति से आपका संपर्क होता है.और अमावस्या को शमशान में या पीपल के वृक्ष के नीचे बैठकर,दही बड़े,पापड और उबला उडद का भोग रख काली हकीक माला से १०८ माला जप दक्षिण या पश्चिम मुख होकर करने पर भूत सिद्धि होती है.
मन्त्र-क्लं क्लीं ह्रीं नमः.
==============================
 The universe is the abode of the powers of other classes, which have influenced our civilization. By making all these powers favorable for us whether they are low or high influential its benefits can be found. Saabar Mantra consists many more other chants (Mantras) which are useful in other wanted works. Below mentioned Chants is used to accomplish all the desires and on the other hand these all are very useful and beneficial for the normal human beings also….During Saawan month in any of the 11 days or during the eclipse period (Grahan Kaal) get it enchanted and accomplished….One needs to enchant it for about 100000 in no.s and in the eclipse period one needs to enchant 100 rounds …and if during this devotion if you have “Mahasiddh Gutika”in front then it is great, else enchant the process by keeping “Saabar Siddhi Yantra” and the beetle nut in front….Along with this you have to worship daily Guru,Ganpati,Durga and Shiv Poojan also…On daily basis after the enchanting process, one needs to give 21 holocaust (Aahuti) of Google….After the whole devotional practice, take any thing, cloth or any other asset and repeat it324 times to invoke the mantra in order to make it fully accomplished…and if still it is not workable, then blow this mantra by enchanting and can get the favorable conditions…

In Full Moon Light (Poornima Night), if practicing of the Mantra 108 times is done by facing in the North Direction at Parvat Shikhar and by offering Flowers, Jamaica and the Kheer one can contact with the Yaksh and the Gandharv and performing the same mantra in the Moonless Nite (Amavas Night) in Cemeteries (Shamshaan) or below the Peepal Tree and by offering Curd,Bade,Papad and boiled Urad facing either in South or West direction by performing the mantra 108 times with the Hakeek Mala ,one can accomplish “Bhoot Siddhi”…

Mantra: - Klam Kleem Hreem Namah

****NPRU****

2 comments:

Rahul Agarwal said...

Bhaiyya agar sabar siddhi yantra na mile to kis samgri ka prayog karein?

Anu said...

dear rahul ji , is kes me aapko mahasiddh gutika ka hi upyog karna hoga ..
smile
anu