There was an error in this gadget

Wednesday, July 20, 2011

SOME EASY SABAR PRAYOG


 जीवन की अनेको विशेषताओ में कुछ ऐसी हैं जिन्हें तो तत्काल ही पूरा होने के लिए व्यक्ति  प्रयास करता हैं , इनमें  किसी भी बीमारी से निजात पाना  एक हैं, साधना  जगत   मैं अनेको उपाय  हैं पर कुछ में कम तो कुछ में ज्यादा समय लगता हैं पर जब  इंतज़ार के लिए समय ही न हो ओर तत्काल  ही उपचार  होना चाहिए. तब एक तंत्र की विशेष  विधा का नाम आता हैं वह हैं साबर मंत्र जगत... इन विशेष विधा के वर्ग में  जो भी उपाय  जीवन की अनेको  बीमारीयो ने लिए हैं वह तो अद्भुत हैं  उनका तो तंत्र की कोई ओर विधा से  तुलना संभव नहीं हैं .

          ओर ऐसे ही कुछ प्रयोग  हम आपके सामने रखते रहे हैं  ओर आज भी ऐसे ही कुछ  प्रयोग हैं .. थोड़े थोड़े से प्रयोग देने के पीछे मंतव्य यह भी हैं की आप इन सभी को  ध्यान से ह्र्द्यागम  करे

 १..पाचन  सम्बंधित प्रयोग :

        पार्टी या किसी पर्व विशेष  के अवसर पर जब मनचाहा खाना सामने आये तब भला कौन  अपने आप को नियंत्रित करसकता  हैं बस खाते  ही जाओ पर फिर   खाना  पाचन से सब्बंधित समस्या  भी तो सामने आती हैं .

एक मन्त्र आपके लिए :
                      राम दूताय हनुमान, पवन पुत्र हनुमान ||
 बस  तुलसी  के सात पत्ते ले ले ओर  इन पर ३१ बार यह मंत्र  पढ़ कर   जिसे समस्या हो उसे  खिला दे . बस आराम होगा.

२...  औषधि लाभ प्रयोग :

 जब रोग मैं  किसी भी औषधि से लाभ न प्राप्त हो रहा  हो या अत्यंत  ही धीमे धीमे  असर प्राप्त हो रहा हो, तब इस मंत्र से अभि मंत्रित करके उस रोगी को  औषधि खिलाये आशातीत लाभ   होगा,
 मंत्र :
 ॐ नमो महा विनाकाय अमृतं रक्ष रक्ष , मम फल सिद्धिं  देहि  रूद्र वचनेन स्वाहा ||

३..  सुख शांति प्रयोग :
आज के परि वेश में घर परिवार में  शांति  हो स्नेह हो धीरे  धीरे  एक स्वप्न  साबनता  जा  रहा हैं , इन बातों से हमरे तंत्र आचार्य अनिभिग्य  नहीं रहे हैं  उन्हों इसके  लिए भी  अनेको प्रयोग   हमारे सामने रखे हैं .
  क्षौं  क्षौं ||
इस मन्त्र का जितना  भी जैसे  भी हो मंत्र जप  आपके परिवार में सुख शांति लाता हैं आवश्यक हैं की इस मंत्र  का जप परिवार के  मुखिया द्वारा हो तो ज्यादा अच्छा रहता हैं .  

४..  स्व उन्नति के लिए प्रयोग ..

हम मेंसे कौन अपनी उन्नति नहीं चाहता हैं  पर कैसे हो ये सब  इसकेलिए साधनाए   तो पूज्यसद्गुरुदेव ने अनेकों दी हैं

   नमो भगवती  त्रिलोचनं त्रिपुरं देवी अन्जन्नी में  कल्याणं में कुरु कुरु स्वाहा ||

 कम से कम ११ या २१ दिन तो करें ही कम्बल आसन ज्यादा अच्छा रहता हैं  और यह प्रयोग दुर्गा देवी या अन्जन्नी देवी  के चित्र के सामने हो तो ज्यादा श्रेष्ठ रहता हैं .  आपको उन्नति देने में यह समर्थ  प्रयोग आप  जितना भी हो करते जाये, आपके लिए लाभ कारक ही होगा.
******************************************************

   There are many specificity  in life that  one want  to fulfill at the earliest, in that    to get rid of illness is  one of the most  needed things. There are many  ways  in sadhana that bring result in that area  ,some brings result with quicker way  some takes a little bit more time., when there is  no time for waiting and quick result is expected,  than  only the sabar mantra field comes into  the mind. This is very important section of  sadhana world , has many  sadhana for getting on the spot result , and that is amazing. And no other branch of tantra can match that .
 Some prayog in that category we are  mentioning through  the blog for you, and on that  series here are some more … the reason behind giving  less number of prayog in this category each time is , that  at least you once read all of them  carefully and thoroughly understand that.
1.    Prayog For digestion problem :
When  we are  in party or  some other function and are offered so many  dishes for  eating than who can control himself so once a person start  he will not  have time to stop, resultant is the  digestion problem,
 So  one mantra for this problem :
 Raam dutay hanuman , pawan putra hanuman .
 Take seven leaves of tulsi plant and chant 31 times the above mentioned mantra and  ask the patient to eat  , and he will have  much relief.
2.   Prayog  for gaining  quick result  for any medicine:
When the patient is not getting the desired result through any medicine or getting very slowly slowly effect , than chant this mantra on the medicine and  after take the dose ,  he will have much  expected result.
 Om namo mahaa vinaakaay amaritam  raksh raksh , mam phal siddhim dehi rudra vachnen swaha.
3.   Prayog  for having  happier family life:
In this time having very happy atmosphere in family  life is becoming dream for most of   us, reason may be any , but this is becoming the cruel reality. But  our  tantra archery  are /were not aware of that  situation  so that  they make so many prayog  for that   here is one..
 Om kshoum kshoum ..
 If this mantra is chanted by the  main  person of the family but better result  expected and  you can  do jap as much as you can .
4.   Prayog for self process:
 Who do not want to get progress in his life , but how we can achieve that , Poojya Sadgurudev ji has given so many sadhana in this context. Kindly look into that  but here is one..
Om namo Bhagvati trilochanam tripuram devi anjanni main kalayanam  main  kuru kuru swaha .
 Do this  mantra jap  for  atleast 11/21 days  in front  of mother durga photo. And aasan will be of kambal .
 Do manra jap  as much as you can  , this bring  more opportunity for you.
 Direction for all above mentioned prayog you can  take north and  yellow color  clothe will be fine. Although  there is no restriction on that, but having faith in sadgurudev and the mantra jap is most important.

****NPRU****

No comments: