There was an error in this gadget

Thursday, October 14, 2010

Tantra Vijay-12 MahaGauri Sadhna(A sadhna For Unmarried Girls to fullfill marriage wish)



Marriage is one among the sixteen samskars of Vedas. So long this tradition has remained responsible for the development of the earth. When we speak about marriage, it is about the lifelong turn. On the other hand for the people around it is a cocktail of feelings and thoughts. A new life does starts with this, and this let you start a very new chapter in the life. Every girl own their own dreams for their life. And thus this process let you to the very new world.

But what about those girls, who are facing the problem for marriage? Our society runs with various fixtures of tradition. When girl become grown up and older but not been eligible for marriage, everyone can understand what could be more hurting then this on her and her family. Sometimes due to some tantra prayoga or due with some evil effect, the girl does not get proper proposals. Sometimes everything is all right but due to some grahdosha or because of some effect of past lives, \girls faces problem in proposal or for marriage. In this condition the whole family gets disturb and our society even creates boundaries with fake and wrong conceptions.
But in sadhana field , every field owns a solution. For such all problems there is a single solution. Gauri Sadhana.
The girls who are faing problems for proposal, grahdosha, evil effects, age problems, or those who are per suing to marriage life should go for this sadhana. With blessing of Mahagauri, one will be getting a good proposal or if facing any another problem, it is being solved in very shorter span of time.

The sadhana should be start friom Monday. Evening time after 9pm is preferable but if it is not possible one can go for any other time. This is total 11 days sadhana. For all 11 days, the time should remained fix. Any rosary could brought into use but should be fresh, I mean it had not been previously used in any other sadhanas. Daily 21 rounds should be recited, in front of picture of shiva and parvati’s marriage. If it is not possible any picture in which shiva and parvati are together.
One should take sankalp before starting the sadhana indicating your marriage problem and pray maha gaure parvati for success in sadhana.
ओम गौरे महागौरे अघोरगौरे मम इच्छित कार्यं सिद्धिं कुरु कुरु स्वाहा
(om gaure mahagaure aghorgaure mam icchit karyam siddhim kuru kuru swaha)


***************************************************

वेदों में निर्धारित १६ संस्कारो में से एक संस्कार विवाह हे. सदियों से ये प्रथा ही तो कारणभूत रही हे पृथ्वी के विकास के लिए. जब हम विवाह कि बात करे , तो वो एक नयी जिंदगी का मोड़ ही तो हे. दूसरी तरफ ये आत्मीय सज्जनो के विचार और भावनाओ का एक संगम हे. ये एक जिंदगी का नया पड़ाव हे जहाँ से नयी जिंदगी कि शुरुआत होती हे. हर कुमारी के नए सपने एक नयी जिंदगी के लिए और ये प्रक्रिया ले जाती हे एक नयी दुनिया कि ओर.
पर उन कुमारियो का क्या, जो समस्याओ से ग्रस्त हे ? हमारा समाज परंपरा के स्तंभों पर ही गतिशील हे. जब कुमारिया पुख्त हो कर के उम्र लायक हो जाए मगर विवाह में अड़चन हो तो हर कोई समझ सकता हे इससे ज्यादा तकलीफ दायक कुछ नहीं हो सकता हे उस कुमारी ओर उसके परिवार के लिए. कभी कोई तंत्र प्रयोग या फिर इतर योनी कि बाधा से कुमारियो को अच्छे रिश्ते नहीं मिलते हे. कई बार ये भी देखने में आया हे कि सब कुछ ठीक होने के बाद भी ग्रहदोष या फिर पूर्व जन्म के दोषों को चलते लड़कियों को विवाह सम्बन्ध में बाधाये आती हे. इस स्थिति में पूरा परिवार चिंतित रहता हे और हमारा समाज भी कई गलत धारणाओ के साथ एक दीवार सी बना लेता है.
मगर साधना जगत में हर एक समस्याओ का समाधान हे. ये सब समस्याओ के लिए एक ही सीधा समाधान हे. महागौरी साधना.
वो कुमारिया , जिनको योग्य प्रस्तावों का अभाव, ग्रहदोष, इतर योनी दोष और जो भी विवाह में प्रवेश कर रही हे, वो कुमारियो को ये साधना करनी चाहिए. महागौरी के आशीर्वाद से, योग्य प्रस्ताव प्राप्त होते हे या फिर कोई भी और समस्या हो तो उसका जल्द ही निराकरण होता हे.

इस साधना को सोमवार से शुरू करे. रात्रि के ९ बजे के बाद का समय उपयुक्त हे लेकिन अगर ये संभव न हो तो किसी भी समय पर साधना कि जा सकती हे. ये पूरे ११ दिन कि साधना हे. ११ दिनों तक साधना का समय एक ही रहे. कोई भी माला प्रयोग में ला सकते हे पर, वो माला पहले कोई प्रयोग में उपयोग न कि गयी हो. रोज ११ माला मंत्र जाप आवश्यक हे जो कि शिव ओर पार्वती के विवाह के चित्र के सामने किया जाए. अगर ऐसा चित्र संभव न हो तो फिर कोई भी चित्र जिसमे शिव ओर पर्वती साथ में हो , उपयोग में ला सकते हे .

साधना से पहले संकल्प लेना जरूरी हे जिसमे आप विवाह सबंधी समस्या के निराकरण के लिए महागौरी माँ पार्वती से साधना में सफलता के लिए प्राथना करे.
मंत्र : ओम गौरे महागौरे अघोरगौरे मम इच्छित कार्यं सिद्धिं कुरु कुरु स्वाहा


FOR MORE UPDATES
OF

(Alchemical files and Mantras RELATED TO POST)

PLZ JOIN
YAHOOGROUPS



To visit NIKHIL ALCHEMY GROUP plz click here

****RAGHUNATH NIKHIL****




No comments: